उत्तराखंडMain Slideकैरियरप्रदेश

यहां जनजाति क्षेत्र के बच्चें ले रहें है IIT और MBBS की पढ़ाई, खुद मुख्यमंत्री बने मुरीद

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कालसी स्थित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के बच्चों के पिछले दो वर्ष में विभिन्न आईआईटी, एमबीबीएस व प्रमुख उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए विद्यालय को जनजाति क्षेत्र के बच्चों की शिक्षा का प्रमुख केन्द्र बताया है।

मुख्यमंत्री

उन्होंने स्कूल के शिक्षकों को भी जनजाति छात्रों को बेहतर शैक्षणिक माहोल प्रदान करने के लिए बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने कहा,” छात्रों को गुणात्मक शिक्षा उपलब्ध कराना समाज के व्यापक हित में है, हमारे छात्र बेहतर गुणात्मक शिक्षा के बल पर ही देश के कर्मठ शिक्षित नागरिक बन सकेंगे।”

मुख्यमंत्री ने विद्यालय के 7 छात्रों को विभिन्न आईआईटी, एनआईटी और आईआईआईटी में, दो छात्रो का एमबीबीएस, 4 छात्रों को दिल्ली विश्वविद्यालय के विभिन्न कालेजो में प्रवेश मिलने को विद्यालय की गौरवपूर्ण उपलब्धि बताया है।

उन्होंने इसके लिए छात्रों के साथ ही विद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ. एससी बडोनी व शिक्षकों को भी बधाई दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज के गरीब तबके के बच्चों को उच्च तकनीकी शिक्षा के अवसर उपलब्ध होने से समाज में शैक्षिक बदलाव लाने में मदद मिलेगी और इससे अन्य छात्रों एवं शिक्षकों को भी प्रेरणा मिलेगी।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close