उत्तराखंडMain Slideअध्यात्मप्रदेश

क्या छोटा हो सकता है महाकुम्भ मेला 2021 का आयोजन, पढ़िए बड़ी रिपोर्ट

उत्तराखंड मुख्यमंत्री के त्रिवेंद्र सिंह रावत व अखाङा परिषद के संत महात्माओ ने सीएम आवास में आयोजित बैठक में महाकुम्भ मेला 2021 के संबंध में विचार विमर्श किया।

अखाड़ा परिषद के महामंत्री महंत हरीगिरी महाराज ने बताया कि उनकी सभी अखाङो के संतों के साथ चर्चा हुई है। सभी ने इस बात पर सहमति दी है कि ज्योतिष गणना के अनुसार महाकुम्भ मेले का आयोजन निर्धारित समय पर ही हो। इसका स्वरूप क्या होगा, किस स्तर तक होगा, इस पर सरकार द्वारा अगले वर्ष फरवरी माह में तत्कालीन परिस्थितियों के अनुसार निर्णय लिया जाए।

कोरोना : इस साल नहीं होगी कांवड़ यात्रा, सरकारों ने मिलकर लिया फैसला

मुख्यमंत्री ने सहयोग के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि परम्पराओं का ध्यान रखते हुए अगले वर्ष कुम्भ मेले का आयोजन समय पर होगा। परंतु आगामी फरवरी माह में उस समय की परिस्थितियों के अनुरूप संत महात्माओ के मार्ग दर्शन से मेले के स्वरूप के बारे में निर्धारित किया जाएगा। स्थाई प्रकृति के निर्माण कार्य चलते रहेंगे।

बैठक में महंत नारायण गिरी जी महाराज, महेशपुरी महाराज सहित उपस्थित थे।
Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close