उत्तर प्रदेशMain Slideप्रदेशराजनीति

प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाइए, उठी मांग

लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस ने काफी दिनों तक किसी भी तरह के तर्क – वितर्क में कोई भी जवाब देने से इनकार कर दिया था। हार के बाद पहली सोनिया गांधी, बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली पहुंची। वहां पहुंचने पर सोनिया ने सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाकात की।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इस मुलाकात के दौरान 2022 में प्रियंका को उत्तरप्रदेश के विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करने की मांग की। प्रियंका ने अतिथिगृह में नेताओं-कार्यकर्ताओं सबसे अलग-अलग मुलाकात की और सभी के राय जाने। कांग्रेस ने अब किसी भी तरह का गठबंधन करने से इंकार कर दिया है।

इस बैठक में सोनिया ने कहा कि सत्ताधारी पार्टी (भाजपा) ने चुनाव प्रचार में सभी तरह के हथकंडे अपनाए और उन्होंने मर्यादाएं भी तोड़ी, पर जनता सब जानती है वह नैतिक था या अनैतिक। इसी बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि जो बोलने जा रही हूं, वह आप सबको अच्छा नहीं लगेगा लेकिन अब मैं सच कहूंगी। रायबरेली में असली चुनाव जनता-जनार्दन ने लड़ा। यह जीत जनता की है। संगठन से चुनाव में उतना सहयोग नहीं मिला जितनी अपेक्षा थी। अगली बार मैं आकर यहां के संगठन का अनुसंधान करूंगी। समीक्षा के आधार पर ही संगठन में कड़े फैसले उठाए जाएंगे।

आपको बात दें, सभा के बाद सभी कार्यकर्ताओं के लिए डिनर का इंतज़ाम किया गया था। सोनिया और प्रियंका ने सभी के साथ डिनर किया और साथ ही पार्टी के नेताओं ने कहा कि पार्टी 12 सीटों पर विधानसभा उपचुनाव में पूरी ताकत के साथ आएगी। आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस पहली बार हरकत में है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close