उत्तराखंडMain Slideअध्यात्मप्रदेशराष्ट्रीय

केदारनाथ आपदा के बाद सात साल, कितना कुछ बदला… जानिए

16 जून 2013 को केदारनाथ धाम में आई आपदा का आत सातवीं बरसी है। धाम के सुधार के लिए प्रधानमंत्री मोदी और प्रदेश की त्रिवेन्द्र रावत की सरकार ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है।

हरीश रावत के मुख्यमंत्री बनते ही केदारनाथ में आपदा कार्यों सहित पुनर्निर्माण कार्यों में तेज़ी आयी, वहीं उनके बाद भाजपा की त्रिवेंद्र रावत सरकार ने वहां प्रधानंत्री मोदी ने निर्देशन में काफी बेहतर कार्य किया, जो आज भी जारी हैं।

सूर्य ग्रहण 2020: इन छह राशियों पर पड़ सकता है सबसे अधिक असर

16 जून 2013 की आपदा ने केदारघाटी में जो तबाही मचाई थी, उसे देखकर ये लगता ही नहीं था कि भविष्य में यात्रा शुरू भी हो पाएगी। लेकिन, बीते सात वर्षों में जैसे-जैसे पुनर्निर्माण कार्य आगे बढ़ा है, घाटी में यात्रा करने वालों की संख्या भी बढ़ती चली गई है।

आपदा के बाद धाम में कई सुविधाएं विकसित हुई हैं, जो धाम के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाती है। इसके पीछे पीएम मोदी का खुद से पुनर्निर्माण कार्यों को देखना भी अहम है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close