व्यापारकैरियर

सिर्फ 10 हजार रुपए लगाकर करें इस बिज़नस की शुरुआत, होगा दोगुना मुनाफा

अचार एक ऐसा एलिमेंट है जो हर तरह के खाने के साथ खाया जाता है। कुछ लोग तो अचार के बिना खाना ही नहीं खाते हैं। थाली में अचार ना हो तो खाना अधूरा अधूरा सा लगता है। अब हम बात करने जा रहें हैं अचार के बिज़नस की जी हाँ अचार का बिज़नेस एक ऐसा बिज़नस है जो हर मौसम में चल सकता है।

यदि आप कोई नया कारोबार शुरू करने जा रहें हैं तो अचार का कारोबार शुरु कर सकते हैं। यह बिज़नस कर के आप अच्छी कमाई कर सकते हैं। इस बिज़नस की एक अच्छी बात ये है कि ये बिज़नस आप अपने घर में भी शुरू कर सकते हैं। बिज़नस बढ़ने पर आप इसे अलग जगह लेकर आगे बढ़ा सकते हैं।

आइये जानते हैं कैसे और कितना पैसा लगाकर आप कर सकते हैं इस बिज़नस से कमाई

इतनी राशि से आप शुरू करें ये बिज़नस

अचार बनाने का बिज़नस आप घर में शुरू कर सकते हैं। इस कारोबार को करने के लिए आपको कम से कम 10 हजार रुपए लगाने होंगे। जिससे आप 25 से 30 हजार रुपए तक की कमाई कर सकते हैं। यह कमाई आपके प्रोडक्ट की डिमांड, पैकिंग और एरिया पर भी निर्भर करती है। तैयार अचार को आप ऑनलाइन, थोक, रिटेल मार्केट और रिटेल चेन को बेच सकते हैं।

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर भीषण सड़क हादसा, पांच की मौत

इतने एरिया की होगी जरूरत

अचार का कारोबार शुरू करने के लिए 900 वर्गफुट का एरिया की जरूरत पड़ेगी। अचार तैयार करना, अचार सुखाना, अचार को पैक करना इत्यादि कार्य के लिए खुली जगह की आवश्यकता पड़ती है। लंबे  समय तक आपका अचार खरब ना हो उसके लिए अचार को बनाने के दौरान बहुत ही साफ-सफाई रखनी पड़ती है तब ही अचार लम्बे समय तक सही रहता है।

कर सकते हैं इतनी कमाई

अचार का बिजनेस शुरू करने के लिए आप 10 हजार रुपए की लागत लगा कर दोगुना मुनाफा कमा सकते हैं। पहली मार्केटिंग में ही लागत की पूरी राशि वसूल हो जाती है और उसके बाद आपको केवल फायदा ही फायदा प्राप्त होता है। इस छोटे कारोबार को आप अपनी मेहनत-लगन और नये-नये प्रयोग से बड़ा बिजनेस बना सकते हैं। इस बिजनेस से आपको हर महीने फायदा मिलेगा और और साथ ही मुनाफा बढ़ता भी जाएगा।

कैसे मिलता है लाइसेंस

अचार बनाने का कारोबार शुरू करने के लिए लाइसेंस की जरूत पड़ती है। इसके लिए फ़ूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड आथोरिटी (FSSAI) से लाइसेंस लिया जा सकता है। इस लाइसेंस के लिए आप ऑनलाइन फॉर्म भर कर आवेदन कर सकते हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close