उत्तराखंडMain Slideअध्यात्मजीवनशैलीप्रदेश

भगवान श्रीराम का देवभूमि के इस स्थान से है गहरा नाता

अध्योया की तरह ही देवभूमि उत्तराखण्ड से भी भगवान श्रीराम का गहरा नाता रहा है।पौड़ी-देवप्रयाग के समीप बना रघुनाथ राम मंदिर इस बात का प्रमाण है कि भगवान राम ने मां गंगा के उदगम स्थल देवप्रयाग पहुंचे थे।

इस जगह पर श्री राम ने अपने ब्रहमा हत्या दोष से निवारण के लिए इस क्षेत्र में सालो तक घोर तप किया।

BCCI ने इस वर्ष बदला IPL का रंग रूप, VIVO बना रहेगा स्पॉन्सर

 

भगवान श्रीराम का मंदिर भव्य मंदिर भले ही अयोध्या में बनाने जा रहा है, लेकिन भगवान श्रीराम का देवभूमि उत्तराखण्ड से गहरा नाता रहा है।

यहां श्रीराम भागीाथी और अलंकनंदा के संगम यानि गंगा के उदगम स्थल देवप्रयाग में भी बसते हैं, जहां उनका भव्य मंदिर भी है।

कहानी –

रामलला और रावण का बीच हुए युद्ध में जब राम ने रावण का वध किया तो उन पर ब्रहमा हत्या लग गयी, जिसके पाप से निवाराण पाने के लिये श्रीराम उस वक्त तप करने इस क्षेत्र में आये थे। जहां उन्होने सालो तक इस क्षेत्र में भी तपस्या की और तभी इस क्षेत्र को भगवान श्रीराम की तपस्थली भी कहा जाता है।

#rammandir #ayodhya #ravana #pauri #Uttarakhand

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close