अध्यात्मMain Slideरोचक खबरें

नागपंचमी पर बन रहा शुभ योग, जानिए इस पर्व का महत्व

नाग पंचमी का त्योहार श्रावण शुक्ल पंचमी तिथि को मनाया जाता है। शास्त्रों के अनुसार इस दिन नागों को पाताल का स्वामी बताया गया है। नाग पंचमी के दिन भगवान शिव के आभूषण नागों की पूजा की जाती है।

नागों की पूजा कर आध्यात्मिक शक्ति, सिद्धि और अपार धन की प्राप्ति की जा सकती है। इस बार नागपंचमी का पर्व 25 जुलाई को मनाया जाएगा। इस दिन एक खास दुर्लभ योग बन रहा है,जो कालसर्प दोष निवारण के लिए बहुत उपयुक्त है।

लॉकडाउन के बीच आंखों में अगर हो रही है ये परेशानी, तो हो जाइए अलर्ट, तुरंत मिलिए डॉक्टर से

कुंडली में कालसर्प दोष के होने पर व्यक्ति को जीवन में कई सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। कालसर्प दोष से पीड़ित व्यक्ति के जीवन में विवाह में अड़चन, दांपत्य जीवन में कलह, शिक्षा में बाधा, रोग चोट से परेशान रहना, आर्थिक तंगी, नौकरी छूटना, संतान को कष्ट जैसी समस्याएं आती रहतीं हैं।

इस बार नाग पंचमी के दिन कालसर्प दोष निवारण का दुर्लभ योग बन रहा है जो इस दोष से आसानी से छुटकारा दिला सकता है।

ये योग उत्तरा फाल्गुनी और हस्त नक्षत्र के प्रथम चरण में बन रहा है। इसके अलावा इस दिन परिगणित और शिव नामक योग भी बन रहा है। ये सारे योग इस बार की नागपंचमी बहुत शुभ बना रहे हैं।

#nagpanchami #sawan #snakes #shiv #omnamahshivay

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close