उत्तराखंडMain Slideअध्यात्मप्रदेश

सावन के महीने में देवभूमि आ रहे यात्रियों के हाथ लग रही है मायूसी,जानिए वजह

भगवान शिव को समर्पित सावन के महीने में सोमवार पर कोविड-19 भारी दिखा। कोविड-19 के चलते अंतरराज्यीय व अंतर जनपदीय सीमाओं को सील किया गया है।

इसके साथ ही इस बार राज्य सरकार द्वारा कांवड़ मेले को भी स्थगित कर दिया है। ऐसे में जनपद में आने वाले तमाम बाहरी कावड़ियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया है। बार्डर पर विशेष इंतेज़ाम किए गए है। सिर्फ उन्ही लोगो के लिए जनपद में प्रवेश खोला गया है जो या इमरजेंसी या उत्तराखंड प्रवासी है या फिर हरिद्वार गंगा में अस्तियाँ विसर्जन करने के लिए आ रहे हैं।

अंतरिक्ष में चमकेगा सुशांत सिंह राजपूत के नाम का एक तारा, दी गई खास श्रद्धांजलि

यात्रियों की माने तो उन्हें बॉर्डर से ही वापस भेजा जा रहा है। हालांकि कुछ यात्री ऐसे भी है जिनके पास ई-पास मौजूद है लेकिन उन्होंने बॉर्डर पर बताया गया है कि तमाम पास तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिए गए है।

कुछ यात्री ऐसे है जो मेडिकल चैकउप या इमरजेंसी के चलते जनपदीय सीमा में दाखिल होना चाह रहे है लेकिन उन्हें भी वापस भेज दिया गया है। बॉर्डर पर यात्रियों में रैला लगा है, वाहनों की लंबी लंबी कतारें देखी जा रही हैं।

#Uttarakhand #haridwar #Ganga #sawan #Shiv

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close