Main Slideजीवनशैलीतकनीकीराष्ट्रीयरोचक खबरेंस्वास्थ्य

बनाई गई ऐसी डिवाइस जिससे कोरोना वायरस फैलने पर लगेगी रोक

चीन से फैला कोरोना वायरस विश्व भर में तेजी से फैल रहा है। विश्व भर में इसे महामारी घोषित कर दिया गया है। आंकड़ों की माने तो अभी तक कुल इस वायरस की वजह से दुनिया भर में 3 लाख 7 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं, और 13 हजार से ज्यादा लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं और अपनी जिंदगी गंवा चुके हैं।

भारत में मरीजों की संख्या 300 से अधिक हो चुकी है। अब सवाल यह उठता है कि क्या इस वायरस का कोई इलाज सामने आएगा या नहीं? इन्हीं सब के बीच में एक ऐसा यंत्र सामने आया है जिससे कोरोना के फैलने पर रोक लगाई जा सकती है।

जैसे कि आप सब जानते हैं कि कोरोना का इलाज तो नहीं मिल सका है और इसे बढ़ने से आप सिर्फ प्रिकॉशंस लेकर की रोक सकते हैं।

लेकिन यूनिवर्सिटी ऑफ मेसाचुसेट्स एमहस्र्ट ने एक ऐसी डिवाइस बनाई है जिससे वायरस रोकने में सफलता मिल सकती है।

यह डिवाइस पब्लिक प्लेस में खांसने और छींकने की आवाज रिकॉर्ड करता है। जिससे यह पता चलता है कि पब्लिक प्लेस पर कितने लोगों को सांस से संबंधित बीमारी है। वैज्ञानिकों ने इस डिवाइस का नाम फ्लूइसन रखा है। इस डिवाइस का निर्माण 2018 में हुआ था। इसके बाद 8 महीने तक इसका ट्रायल यूनिवर्सिटी में किया गया।

यह डिवाइस ना सिर्फ ऑडियो रिकॉर्ड करता है बल्कि इसमें एक थर्मल कैमरा लगा है। जो बॉडी का टेंपरेचर भी रिकॉर्ड करता है। इसे बनाने वाले शख्स ने बताया कि इस डिवाइस से कोरोना पर रोक लगाई जा सकती है।

इस डिवाइस से पता चल जाएगा कि पब्लिक में कौन बीमार है। इसके परीक्षण के दौरान इस डिवाइस ने 21 मिलियन आवाजों को रिकॉर्ड किया था। इसके अलावा साढे तीन लाख थर्मल स्कैन भी किए गए थे।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close