Main Slideअध्यात्मउत्तर प्रदेशजीवनशैलीप्रदेशराष्ट्रीयरोचक खबरें

देश के सबसे बड़े धार्मिक मेले माघ मेले की आज से हुई शुरुआत

संगम नगरी प्रयागराज में गंगा यमुना और अद्रश्य सरस्वती के तट पर लगने वाले देश के सबसे बड़े धार्मिक मेले माघ मेले की आज से पौष पूर्णिमा के स्नान के साथ शुरुआत हो गई है।

32 लाख श्रधालुओ के संगम पहुचने की उम्मीद

10 जनवरी से 21 फरवरी तक चलने वाले आस्था के इस सबसे बड़े सालाना मेले माघ मेले के पहले स्नान पर्व पर ही लगभग 32 लाख श्रधालुओ के संगम पहुचने की उम्मीद है। माघ मेला प्रशासन का दावा है की प्रशासन ने इस स्नान को कुशलता पूर्वक सम्पन्न कराने की सभी तैयारियां पूरी कर ली है। भीड़ के उमड़ते सैलाब को देखते हुए सुरक्षा के भी यहाँ पुख्ता इंतजाम किये गए है।

माघ मेले का पहला स्नान पर्व पौष पूर्णिमा आज

प्रयागराज के संगम तट पर आज सुबह से ही श्रधालुओ की भारी भीड़ उमड़ रही है। आज से माघ मेले की शुरुआत हो गई है।  माघ मेले का पहला स्नान पर्व पौष पूर्णिमा आज है। सूर्य के उत्तरायण से दक्षिण होने पर आयोजित होने वाले इस स्नान पर्व जहां त्रिवेणी की पावन धारा में आस्था की डुबकी लगाने वालो की भारी भीड़ उमड़ रही है।

देखें उत्तराखंड की अन्य खबरें, हमारे Youtube चैनल पर –

कल्पवास की भी हो रही है शुरुआत

आज से कल्पवास की भी शुरुआत हो रही है जिसमे तीन लाख से अधिक कल्पवासी त्रिवेणी के तट पर एक महीने तम्बुओ में बस कर पूजा अर्चना करेगे।  माघ मेला प्रशासन के मुताबिक़ इस स्नान पर्व इस बार करीब 32 लाख श्रद्धालुओं के संगम स्नान का अनुमान है।

5 पांटून पुलों का निर्माण

लाखो की संख्या में आ रहे श्रद्धालुओं के लिए प्रशासन ने व्यापक स्तर पर अपनी तैयारियां की है।  प्रशासन ने इसके लिए पांच किलोमीटर लम्बे 16 घाटों का निर्माण किया गया है। पूरे मेला क्षेत्र को जोड़ने के लिए 5 पांटून पुलों का निर्माण किया गया है।

देखें उत्तराखंड की अन्य खबरें, हमारे Youtube चैनल पर –

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

लाखो की संख्या में श्रद्धालुओं के मेले में आने के चलते सुरक्षा एजेंसियां और सुरक्षा बल खास तौर पर मेले को लेकर बेहद सतर्क रहते हैं। इस बार का माघ मेले भी उपद्रवियों की बुरी नज़र से दूर रहे इसके लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं।

 

 

 

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close