रोचक खबरेंMain Slideउत्तराखंडजीवनशैली

VIDEO : बाघ-तेंदुओं से अकेले लड़ जाता है पहाड़ का भोटिया कुत्ता

भोटिया, भूटिया या भोटी नाम से जाने जानी वाली कुत्ते की यह प्रजाति तिब्बतन मस्टिफ का ही एक रूप है जो विश्वभर में सबसे महँगी ब्रीड है। नैसर्गिक प्रतिभा का धनी यह कुत्ता हिमालयी घास के मैदानों में भेड़ों के लिए प्रबंधक और सुरक्षा का कार्य करता है।

बाघ और कुत्ता हो तो मुकाबला होता जोरदार

दो कुत्ते 500 से 600 भेड़ों को संभाल लेते हैं। और अगर दो भोटिया कुत्ते सामने हो तो बाघ भी सामने नहीं आता। एक बाघ और एक कुत्ता हो तो मुकाबला जोरदार होता है और दो कुत्ते हो तो बाघ ज्यादा देर नहीं टिक पाता।

दिन में बहुत शांत परंतु रात्रि में खौफनाक

भोटिया प्रजाति के ये कुत्ते गुलदार से लड़ने की क्षमता रखते हैं। इन प्रजाति के कुत्तों को बकरी पालन का व्यवसाय करने वाले लोग बकरियों की रक्षा के लिए पाला जाता है। वहीँ दूसरी तरफ अन्य वर्ग इन्हें सुरक्षा की दृष्टि से पालते हैं। यह दिन में बहुत शांत परंतु रात्रि में खौफनाक रहता है।

बेहद शांत व गंभीर किस्म का जानवर

ये एक बेहद शांत व गंभीर किस्म का जानवर होता है जो कम चहलकदमी करता है। भेड़पालक इसे परिवार के सदस्य की तरह पालते हैं। हज़ारों की भीड़ में भी अपनी भेड़ों की पहचान रखते हैं। निचले हिमालयी क्षेत्रों में इसकी मिलीजुली प्रजाति मिलती है लेकिन उच्च हिमालयी क्षेत्रों में इसकी शुद्ध प्रजाति मिलती है। इसके लिए आपको हिमाचल के कुछ भागों में, उत्तराखंड के गढ़वाल कुमाऊँ के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में जाना होता है।

सबसे बुद्धिमान व महँगी प्रजाती

ये विश्व में सबसे बुद्धिमान व महँगी प्रजातियों में आती है पर भारत सरकार की तरफ से इसके संरक्षण के लिए कुछ नहीं किया गया न ही इसकी शुद्ध प्रजाति को बचाने के लिए कोई मुहिम, निचले क्षेत्रों में लोगों द्वारा खरीदे कुत्तो की नस्ल  मिश्रित हो गयी है। भेड़पालन ब्यवसाय कम होने की वजह से इन्हे पूरा खाना और ज्यादा ठंडी जलवायु नहीं मिल पाती। तिब्बत में इसकी सबसे अच्छी नस्ल पायी जाती है। हिमालयी क्षेत्रों में इनकी वफादारी और सजग पहरेदारी पर कई रोचक किस्से हैं।

 

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close