उत्तराखंडMain Slideजीवनशैलीप्रदेशरोचक खबरेंस्वास्थ्य

देवभूमि में मिशन खुशियां बन रहा निर्धन वर्ग का सबसे बड़ा सहारा

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शनिवार को रामलीला मैदान सितारगंज में मिशन खुशियां फेज-2 और एप्प के लोकार्पण कार्यक्रम को मोबाईल फोन से सम्बोधित किया।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के गरीब लोगों को सरकार की ओर से जो सुविधाएं दी जा रही हैं वह पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाने के लिए मिशन खुशियां उचित माध्यम है। इस अभियान में सर्वे के तहत जिन पात्र व्यक्तियों को अभी तक योजनाओं का लाभ नही मिल पाया है उन्हें योजनाओं का लाभ अब जिला प्रशासन द्वारा इस योजना के माध्यम से उपलब्ध कराया जायेगा, इसके लिए उन्होंने जिलाधिकारी के प्रयासों की भी सराहना की।

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर सभी को नए साल की शुभकामनाएं व बधाई भी दी। ज्ञातव्य है कि इन योजनाओं का लोकार्पण मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को करना था, लेकिन घने कोहरे के कारण उनका हैलीकाप्टर सितारगंज हैलीपेड पर नहीं उतर पाया। इसलिए उन्होंने कार्यक्रम को मोबाईल फोन के माध्यम से संबोधित किया।

रामलीला मैदान सितारगंज मे मिशन खुशियां फेज-2 एवं एप्प का लोकार्पण क्षेत्रीय विधायक सौरभ बहुगुणा  और जिलाधिकारी डॉ. नीरज खैरवाल द्वारा संयुक्त रूप से किया गया।

विधायक बहुगुणा ने कहा कि जनपद ऊधम सिंह नगर में सरकार की सोच को धरातल पर उतारा है यह एक बड़ा काम है। उन्होंने कहा उत्तराखण्ड के प्रत्येक व्यक्ति तक यदि स्वास्थ्य व शिक्षा की सेवाएं पहुंच जाए तो यह राज्य की बड़ी सेवा  होगी। उन्होंने कहा टीम भावना से कार्य करते हुए मिशन खुशियां धरातल पर उतर रही है। उन्होंने इस कार्य के सर्वे के लिए आंगनबाडी व आशा कार्यकत्रियों का भी आभार व्यक्त किया।

इस मौके पर जिलाधिकारी डॉ. नीरज खैरवाल ने बताया मिशन खुशियां कार्यक्रम के प्रथम चरण में जिला प्रशासन व जिम्मेदारी फाउन्डेशन के सहयोग से जनपद में 18 लाख लोगों का भौतिक सर्वे किया गया। सर्वे के तहत जनपद के स्वास्थ विभाग, समाज कल्याण, ग्राम्य विकास, विद्युत, पेयजल, कृषि, पूर्ति विभाग, निर्वाचन, शिक्षा, सेवायोजन, महिला एंव बाल विकास, श्रम, लीड बैंक विभागों मे संचालित राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओ का लाभ दिये जाने हेतु पात्र व्यक्तियों की ब्लॉक स्तर पर सूची तैयार की गई।

उन्होंने कहा बनाई गई सूची के अनुसार पात्र व्यक्तियो को योजनाओ का लाभ दिया जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया इस कार्यक्रम के तहत सितारगंज ब्लाक मे 01 लाख 74 हजार व्यक्तियों का डाटा तैयार किया गया। उन्होंने कहा इसमे से 01 लाख 40 हजार 440 पात्र व्यक्तियो की सूची तैयार की जा चुकी है जिसमे से 99 हजार 140 लोगों से समन्वय स्थापित कर 40508 व्यक्तियों को पात्रता के अनुसार अपेक्षित लाभ दिया जा चुका है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close