अध्यात्मMain Slideराष्ट्रीय

Kartik Purnima पर करें भगवान विष्णु की पूजा, होगी पुण्य फल की प्राप्ति

भगवान विष्णु को प्रिय कार्तिक मास की पूर्णिमा आज मनाई जा रही है। चन्द्रमा के सप्तम भाव में रहने के कारण जहां महालक्ष्मी योग बन रहा है। वहीं सभी ग्रहों के चार स्थानों पर रहने के कारण केदार योग का संयोग भी बन रहा है।

Kartik Purnima

कार्तिक मास को पुण्य मास के रूप में भी माना जाता है। इससे कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान व दान का खास महत्व है। हिंदू पंचांग के मुताबिक कार्तिक पूर्णिमा पर महालक्ष्मी, केदार और वेशि योग का संयोग बन रहा है। चंद्रमा से मंगल के सप्तम भाव में रहने से महालक्ष्मी योग बनेगा।

सभी ग्रहों के चार स्थानों पर रहने से केदार योग और सूर्य से द्वितीय भाव में शुभ ग्रह शुक्र के रहने से वेशि योग का संयोग है। मान्यता है कि कुश लेकर इस तिथि पर गंगास्नान या स्नान करने से सात जन्म के पापों का नाश होता है।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close