रोचक खबरेंअध्यात्मजीवनशैलीबोलती खबरें

हर रंगों में पाए जाते ये तीन तरह के तत्व, जानिए कहां करें किस रंग का इस्तेमाल

लोग अपने घर तथा ऑफिस की साफ़ सफाई पर विशेष ध्यान देतें हैं और घर या ऑफिस की दीवारों को भी पेंट करवातें हैं जिसमे कई रंगों का चयन किया जाता है। ऐसे में आपको सोचना पड़ता है की कहाँ किन रंगों का इस्तेमाल किया जाये जो वास्तु के नियमों के हिसाब से हो। अगर आप वास्तु के नियमों को ध्यान में रखकर रंग करवातें हैं तो आपके घर में पांचों तत्व संतुलित रूप से कार्य करते हैं और घर में सुख समृद्धि बनी रहती है।

वास्तुशास्त्र में घर की साज-सज्जा में इस्तेमाल किये जाने वालें रंगों का विशेष महत्व  है। इन्हें आप एक शक्तिशाली उपकरण के रूप में देख सकते हैं। हमारे आस-पास उपस्थित रंगों के हिसाब से व्यक्ति शारीरिक और मानसिक दोनों ही तरह से प्रभावित होता है। सत्व, रजस व तमस इन तीन तरह के गुणों से रंगों का गहरा संबंध होता है।

जिनमे से आसमानी, हरे, सफेद तथा अन्य हलके रंगों को सत्व रंगों में शामिल किया गया है। तीखे लाल, नारंगी और गुलाबी रंगों को रजस रंगों में शामिल किया गया हैं जो इच्छाओं में वृद्धि करते हैं। गहरे नीले, भूरे एवं काले रंगों को तामसिक रंगों में शामिल किया गया है।

घर की साज सज्जा में तामसिक रंगों की अवहेलना करनी चाहिए। तामसिक रंग व्यक्ति को सुस्त और आलसी बनाते हैं। घर में सुख समृद्धि के वातावरण के लिए नम्र,हल्के व सात्विक रंगों को इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

पीएम मोदी का 70वां जन्मदिन : BJP देशभर में लोगों को बांटेगी ये खास चीज़

जानिए कौन सा रंग करें कहां इस्तेमाल

हरा और नीला रंग

  • वास्तु में हल्के नीले एवं हरे रंग को स्वास्थ्य के प्राकृतिक स्त्रोत के रूप में देखा जाता है।
  • ये रंग ठंडे और कोमल होते हैं व इनसे संयमित और शांतिमय विकंपन पैदा होता है।
  • इन रंगों का इस्तेमाल घर के ड्राइंग रूम में करना चाहिए।
  • वास्तु में हल्के नीले रंग का बाथरूम भी शुभ माना जाता है।

पीला रंग

  • पीला रंग व्यक्ति के स्नायु तंत्र को संतुलित करता है और साथ ही मस्तिष्क को सक्रिय रखता है।
  • इस रंग को अध्ययन कक्ष या लाइब्रेरी में इस्तेमाल करना लाभकारी होता है।

बैंगनी रंग

  • बैंगनी रंग को उत्साहवर्धक एवं अवसाद को ख़त्म करने वाला माना जाता है।
  • योग व साधना कक्ष या पूजा स्थल में इस रंग का इस्तेमाल करना शुभ होता है।सफेद रंग

वैसे तो कमरे में ज्यादा ऊष्मा व प्रकाश के लिए कमरे की छत को सफेद रंग से पेंट कराना अच्छा रहता है लेकिन पूरे कमरे में सफ़ेद रंग नहीं करवाना चाहिए क्योंकि वास्तु में इस रंग को अल्पजीवी माना जाता है।

लाल, गुलाबी और नारंगी रंग

  • गुलाबी, लाल, नारंगी रंग आपसी संबंधों को सुदृढ़ बनाते है इसीलिए शयन कक्ष में इन रंगों का इस्तेमाल करना बहुत शुभ होता है।
  • रसोईघर में भी लाल रंग शुभ माना जाता है।
  • घर के मेन गेट के लिए रंग का चुनाव घर की दिशा के अनुसार ही किया जाना चाहिए।
  • ऐसा करने से घर या ऑफिस में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है और साथ ही पर्यावरण भी सौहार्दपूर्ण बना रहता है।

#colours #lifestyle #people #coloursoflife 

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close