स्वास्थ्यMain Slideप्रदेशराष्ट्रीय

 भारत में तेज़ी से बढ़ रहे एनीमिया के मरीज़, ये प्रदेश है सबसे आगे

मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले के शहर और गांव में आधी आबादी खून की कमी से जूझ रही है।आंकड़ों ने स्वास्थ्य महकमा और महिला बाल विकास विभाग के होश उड़ा दिए हैं। आंकड़ों में जिले की आधी आबादी में खून की कमी है।

जिले के बच्चों कि तो करीब 50% बच्चे और 53 फीसदी महिलाएं खून की कमी के शिकार हैं। ऐसी ही हालत पुरुषों के मसले में भी है। लगभग 45 फीसदी पुरुषों में खून की कमी पाई गई है। एनीमिया की विकराल स्थिति देखकर अंदाजा लगाया जा सकता हैं कि कई कोशिशों के बाद भी अब एनीमिया के रोगी जिले में लगातार बढ़ रहे हैं।

जाने क्यों होती है खून की कमी

  • महिलाओं में यह प्रॉब्लम तब और बढ़ जाती है जब वे गर्भवती होती हैं।
  • गर्भवती महिलाएं अपने स्वास्थ्य के प्रति जरा भी लापरवाह हो तो इसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं।
  • खून की कमी को एनीमिया के रूप में देखा जाता है।
  • आयरन की कमी होना भी इसकी खास वजह है।

कैसे बचा जा सकता है एनीमिया से

  • एनीमिया की प्रॉब्लम से बचने के लिए, रेड मीट, सी-फूड और अंडा फायदेमंद होता है।
  • अगर आप शाकाहारी हैं, तो सोयाबीन, मटर, सूखे मेवे और एप्रिकॉट का सेवन कर सकते है।
  • ताजी हरी सब्ज‍ियों के साथ मक्का और अलग-अलग तरह की दालों को अपने भोजन में शामिल करें।
  • इससे शरीर में आयरन की कमी नहीं होगी, जो एनीमिया की खास वजह है|नाश्ते और खाने में फलों का सेवन करे ।
  • खून की जांच और डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही इनका सेवन करें, क्योंकि शरीर में आयरन की अधिकता आपके लिए मुसीबत बन सकता है।

रिपोर्ट – श्वेता वर्मा 

देखें ये वीडियो – 

 

 

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close