स्वास्थ्यMain Slideजीवनशैली

इन महिलाओं को स्तन से जुड़ी समस्याएं न के बराबर होती हैं, जानिए बड़ी वजह

सुबह जल्दी जागने वाली महिलाओं में अन्य की तुलना में स्तन कैंसर का खतरा कम रहता है। ताजा अध्ययन में यह बात सामने आई है। वैज्ञानिकों ने दो अध्ययनों यूके बायोबैंक स्टडी और ब्रेस्ट कैंसर एसोसिएशन कंसोर्टियम स्टडी में शामिल चार लाख से ज्यादा महिलाओं के डाटा का विश्लेषण किया। इसमें पाया गया कि सुबह जल्दी जागने वाली महिलाओं में स्तन कैंसर का खतरा कम रहता है। इसी तरह नींद की अवधि और अनिद्रा से भी स्तन कैंसर पर प्रभाव देखा गया। वैज्ञानिकों ने यह भी पाया कि सात-आठ घंटे से ज्यादा समय तक सोते रहने से भी स्तन कैंसर का खतरा अपेक्षाकृत बढ़ जाता है।

इन महिलाओं को स्तन से जुड़ी समस्याएं न के बराबर होती हैं

वर्तमान जीवनशैली और आधुनिकता के चलते कैंसर किसी को भी हो सकता है। स्तन कैंसर महिलाओं में होने वाली एक भयावह बीमारी है। हालांकि यह एक भ्रम है कि ब्रेस्ट कैंसर सिर्फ महिलाओं में होता है। आज पुरूषों में भी इस बीमारी की संख्या बढ़ रही है। कैंसर से बचने का सिर्फ एक ही उपाय है जागरूकता।

महिलाओं और पुरूषों में होने वाले इस कैंसर के वास्तकविक कारणों का पता नहीं चल पाया है, लेकिन ऐसा अनुमान लगाया जाता है कि यह हार्मोनल या अनुवांशिक कारणों से होता है। अगर सही समय पर स्तन कैंसर की पहचान कर ली जाए और इसका इलाज शुरू कर दिया जाए, तो इसे आसानी से ठीक किया जा सकता है। आइए आपको बताते हैं महिलाओं में स्तन कैंसर या ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण और इलाज के बारें में।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close