राष्ट्रीयMain Slideराजनीति

LIVE : पर्रिकर के पार्थिव शरीर को तिरंगे में लपेटा गया, सरकारी दफ्तरों में आधा झुका रहा ध्वज

गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर का रविवार को देहान्त हो गया। वो गोवा के मुख्यमंत्री ही नहीं बल्कि देश के रक्षा मंत्री भी रह चुके हैं। मनोहर पर्रिकर एक सादगी की जीती जागती मिसाल थें।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक रह चुके मनोहर पर्रिकर  63 वर्ष की उम्र में चार बार गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में कार्यरत रह चुके थें । लेकिन एक बार भी वो अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सकें।
मनोहर पर्रिकर 63 वर्ष की उम्र में चार बार गोवा के मुख्यमंत्री बने
गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर का रविवार को देहान्त हो गया ( फोटो – गूगल )

मनोहर पर्रिकर 63 वर्ष की उम्र में चार बार गोवा के मुख्यमंत्री बने

वर्ष1994 में उन्होंने सियासत में पहला कदम रखा।पणजी विधानसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी के तौर पर जीत हासिल कर विधायक बने और 1999 तक गोवा विधानसभा में विपक्ष के नेता भी रह चुके थे पर्रिकर,लेकिन जब 1999 में चुनाव हुए तो रा़ज्य की 40 सीटों में सिर्फ 10 सीटें ही बीजेपी को मिली। गोवा पीपल्स कांग्रेस की सरकार बनी। ये सिर्फ एक साल ही चल सकी। मनोहर पर्रिकर के पूरे कार्यकाल की बात करें तो वे 24 अक्टूबर 2000 को गोवा के मुख्यमंत्री बने।
लेकिन रविवार देर रात जब मनोहर पर्रिकर निधन हुआ तो पूरे बीजेपी मे मातम छा गया।उनके अंतिम दर्शन करने के लिए राजधानी पणजी की सड़कों पर भारी तादाद में भीड़ जमा हो गई। इस दौरान सरकारी दफ्तरों में तिरंगा आधा झुका रहेगा।
अंतिम विदाई के लिए आज सुबह सोमवार पर्रिकर का पार्थिव शरीर यहां भाजपा कार्यालय में लाया गया, तो बीजेपी कार्यालय में जैसे मातम छा गया। सैकड़ों समर्थकों की आंखे जैसे नम सी हो गई। केंद्रीय कैबिनेट में मनोहर पर्रिकर के निधन पर शोक प्रस्ताव पास किया गया और दो मिनट का मौन रखा गया। कुछ ही देर में प्रधानमंत्री गोवा के लिए रवाना होगें।

रिपोर्ट – श्वेता त्रिपाठी

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close