Main Slideराष्ट्रीयरोचक खबरें

26/11 हमला : पुलिस अधिकारी से कसाब ने लगाई थी ये शर्त, सुनकर हैरान रह जाएंगे

हम जब भी मुंबई हमले का ज़िक्र करते हैं हमारे दिमाग में एक चेहरा अपने आप आ जाता है.. वो चेहरा है आतंकी अजमल कसाब का।

क्या आपको पता है कि अपनी फांसी से 2 दिन पहले जब 26/11 केस के मुख्य जांच अधिकारी रमेश महाले ने कसाब से आर्थर रोड जेल में कहा कि उठो, अब तुम्हें फांसी के लिए चलना है, तो उसने उन्हें जवाब दिया था कि मैं आप से शर्त हार गया।

गिरफ्तारी के बाद कसाब दो से और कुछ दिनों तक मुंबई क्राइम ब्रांच की निगरानी में था। इस दौरान कसाब से पूछताछ की प्रक्रिया के उसने कई राज खोले थे।

26/11

एक रोज़ जब महाले ने उससे कहा कि उसने जो गुनाह किया है, क्या उसे अहसास है कि इसमें उसे फांसी हो सकती है ? तो कसाब ने इस बात का जवाब दिया था कि जब आप लोग आठ साल में अफजल गुरू को फांसी नहीं दे पाए, तो मुझे क्या दे पाओगे। तब महाले ने उससे शर्त लगाई थी कि अफजल को भी फांसी होगी और तुम्हें भी।

एक अखबार को दिए गए अपने इंटरव्यू में महाले ने यह बताया था कि वर्ष 2012 में 19 और 20 नवंबर की रात आर्थर रोड जेल में वो कसाब के सेल में गए थे। उन्होंने कसाब से कहा था कि पहचान कौन? यह सुनकर उसने फौरन जवाब दिया- आप हैं रमेश महाले। महाले ने बताया,” तब मैंने उसे बताया कि तुम्हें क्या मेरी फांसी वाली बात याद है ? चलो, अब तुम्हें फांसी के लिए ही यहां से चलना है। तब उसने कहा कि मैं वाकई आपसे शर्त हार गया।

इसके बाद आतंकी अजमल कसाब को 21 नवंबर, 2012 और अफजल गुरू को 9 फरवरी 2013 को फांसी दी गई थी।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close